Automatic Calculations in LibreOffice Calc

Automatic calculations in LibreOffice Calc
LibreOffice Calc Spreadsheet software gives you the ability to enter mathematical formulas ranging from simple arithmetic to complex statistics. This is done in a simple and intuitive manner; to perform a calculation with two different cells on the LibreOffice calc spreadsheet, simply click a cell, press a key for a mathematical operator such as the “+” sign and click the 2nd cell. This is often a much faster way to perform calculations with our data than a calculator would be.
स्प्रेडशीट सॉफ्टवेयर आपको मैथमेटिकल फॉर्मूले को सिंपल अर्थमैटिक से कॉम्प्लैक्स स्टेटिक्स तक ले जाने की क्षमता प्रदान करता है। यह एक सिंपल और सहज तरीके से किया जाता है। स्प्रेडशीट पर दो अलग-अलग सेल के साथ गणना करने के लिए, एक सेल पर क्लिक करें, मैथेमैटिकल ऑपरेटर जैसे कि “+” चिह्न के लिए एक की दबाएं और दूसरे सेल पर क्लिक करें। यह अक्सर कैलकुलेटर की तुलना में आपके डेटा के साथ कैल्कुलेशन को परफॉर्म करने का एक तेज तरीका है।
Dynamic Updates – डायनामिक अपडेट्स
In addition to the standard method of entering data in a spreadsheet — typing numbers in cells — you can also create a cell with a value generated dynamically based on other cells. For example, a cell might show the net profit on the sale of an item by adding a value in one cell with a certain percentage. But the value displayed in the cell is based on the values in two other cells, the cell dynamically updates when we change either of the referenced cells. This allows you to test different scenarios by changing the cost of a product item or the percentage of profit. Any time you base the value of one cell on the value of next other cells, the value of one cell updates automatically when the other is changed.
स्प्रेडशीट में डेटा एंटर करने के स्टैण्डर्ड मेथर्ड के अलावा – सेलों में टाइपिंग नंबर टाइप करके आप दूसरे सेलों के आधार पर डायनामिक रूप से जनरेट किए गए वैल्यू वाले सेल भी क्रिएट कर सकते हैं।
उदाहरण के लिए, सेल एक आइटम की बिक्री पर एक निश्चित प्रतिशत के साथ सेल की वैल्यू को जोड़कर नेट प्रॉफिट दिखा सकता है। क्योंकि सेल में प्रदर्शित वैल्यू दो अन्य सेलों के वैल्यू पर बेस्ड होती है, क्योंकि सेल डायनमिक रूप से अपडेट होता है, जब आप रेफरेंस सेलों में से किसी एक को बदलते हैं। यह आपको किसी आइटम के कॉस्ट, या प्रॉफिट का प्रतिशत बदलकर विभिन्न सेनेरियो को टेस्ट करने की अनुमति देता है। किसी भी समय आप दूसरे सेलों के वैल्यू पर एक सेल की वैल्यू को बेस बनाते हैं,तो एक सेल का मान स्वतः अपडेट होता है, जब दूसरा चेंज हो जाता है।
Data Analysis – डेटा एनॉलिसिस
LibreOffice calc Spreadsheet software gives you the ability to analyze your data in ways other than simply looking at grids and lines. Most LibreOffice spreadsheet software can automatically create graphs and charts from your data, giving you different ways of comparing and analyzing information. These visual representations can also be printed and email or export into slide shows for presentations.
स्प्रेडशीट सॉफ्टवेयर आपको ग्रिड और लाइनों को देखने के अलावा अन्य तरीकों से अपने डेटा को एनलाइज करने की क्षमता प्रदान करता है। अधिकांश स्प्रेडशीट सॉफ्टवेयर ऑटोमैटिक रूप से आपके डेटा से ग्राफ और चार्ट क्रिएट कर सकते हैं, जिससे आपको इंफॉर्मेशन को कंपेयर करने और एनलाइज करने के विभिन्न तरीके मिलते हैं। इन विजुअल रिप्रेजेन्टेशन को भी प्रेजेन्टेशन्स के लिए स्लाइड शो में प्रिंट और ईमेल या एक्सपोर्ट किया जा सकता है।
What is a cell? – एक सेल क्या है?
Cell is the intersection of a row and a column in the spreadsheet. The contents of a cell may be defined with the help of a value (number), label (text), formula, date or time. In case of the need to enter a series of data, electronic spreadsheets facilitate automatic filling of a range of cells within the series. The user has to define the starting value, the incremental value, the terminal value and the range of cells that are to be filled with the series of values. The electronic spreadsheets have facilities for Copying, Deleting, Moving, Erasing and Inserting data. These facilities are available for all types of data including labels and formula and are similar to those available in word processors.
सेल स्प्रेडशीट में एक रो और एक कॉलम का इंटरसेक्शन है। सेल की सामग्री को एक मान (संख्या), लेबल (टेक्स्ट), सूत्र, तिथि या समय की सहायता से परिभाषित किया जा सकता है। डेटा की एक श्रृंखला में प्रवेश करने की आवश्यकता के मामले में, इलेक्ट्रॉनिक स्प्रेडशीट श्रृंखला के भीतर कोशिकाओं की एक श्रृंखला के स्वतः भरने की सुविधा देता है। उपयोगकर्ता को प्रारंभिक मूल्य, वृद्धिशील मूल्य, टर्मिनल वैल्यू और कोशिकाओं की श्रेणी को परिभाषित करना होगा जो मूल्यों की श्रृंखला से भरे जाने हैं। इलेक्ट्रॉनिक स्प्रेडशीट में डेटा को कॉपी करने, हटाने, हिलाने, मूव करने, और सम्मिलित करने के लिए सुविधाएं हैं। ये सुविधाएं लेबल और सूत्र सहित सभी प्रकार के डेटा के लिए उपलब्ध हैं और वर्ड प्रोसेसर में उपलब्ध समान हैं।
Creation of Spreadsheets (Ctrl+N) – स्प्रेडशीट तैयार करना  
You can open a New spreadsheet by clicking on file an select Open. It is important to know about Calc because if you open Calc first time, a new spreadsheet document file containing a grid of cells will appear on your screen.
आप फ़ाइल का चयन करके एक नई स्प्रेडशीट का चयन कर सकते हैं। कैल्क के बारे में जानना महत्वपूर्ण है क्योंकि यदि आप कैल्क को पहली बार खोलते हैं, तो एक नया स्प्रेडशीट डॉक्यूमेंट फ़ाइल जिसमें आपकी स्क्रीन पर सेल का ग्रिड होगा।
• You can use New Document icon on the Standard toolbar by clicking on drop-down arrow. Or
आप ड्रॉप-डाउन एरो पर क्लिक करके मानक टूलबार पर न्यू डॉक्यूमेंट आइकन का उपयोग कर सकते हैं। या,
• Go to the File Menu>New>Spreadsheet. OR फाइल पर Go to the File > select New > Spreadsheet चुनें। या,
• You can press Ctrl+N to open a New Calc Spreadsheet in a new window. OR
नई विंडो में नई कैल्क स्प्रेडशीट खोलने के लिए आप Ctrl + N दबा सकते हैं। या,
• You can also create Templates and documents from the Menu bar and toolbar.
आप मेनू बार और टूलबार से टेम्प्लेट और डॉक्यूमेंट भी बना सकते हैं।
Concept of Cell Address (Row and Column) and selecting a Cell
सेल एड्रेस का कॉन्सेप्ट (रो और कॉलम) और सेल को सेलेक्ट करना
Every LibreOffice calc spreadsheet is made up of thousands of rectangles, which are called cells.
प्रत्येक स्प्रेडशीट हजारों आयतों से बनी होती है, जिन्हें सेल कहा जाता है।
A cell is the intersection of a row and a column.
एक सेल एक रो और एक कॉलम का इंटरसेक्शन है। Columns are identified by letters (A, B, C), while rows are identified by numbers (1, 2, 3). कॉलम अक्षरों (A, B, C) द्वारा, जबकि रो नम्बरों (1, 2, 3) द्वारा पहचाने जाते हैं।
Each cell has its own name-or cell address-based on its column and row. प्रत्येक सेल का अपना नाम होता है- या सेल एड्रेस, जो उसके कॉलम और रो पर आधारित होता है।
In this example, the selected cell intersects column C and row 2, so the cell address is C2. यहां इस उदाहरण में, कॉलम सी और रो2 को काटता है, इसलिए सेल एड्रेस सी2 होगा।
The cell address will also appear in
the Name box.
सेल एड्रेस नेम बॉक्स में भी दिखाई देगा।
Note that a cell’s column and row headings are highlighted when the cell is selected.
ध्यान देने योग्य बात यह है कि सेल चयनित होने पर सेल के कॉलम और रो हेडिंग हाईलाईट किए जाते हैं।
You can also select multiple cells at the same time.
एक समय में आप मल्टीपल सेल्स का चयन कर सकते हैं।
A group of cells is known as a cell range. Rather than a single cell address, you will refer to a cell range using the cell addresses of the first and last cells in the cell range, separated by a colon (:)
सेल के एक समूह को सेल रेंज के रूप में जाना जाता है। एक सिंगल सेल एड्रेस के बजाय, आप एक कोलन (:) द्वारा अलग किए गए सेल रेंज में पहली और आखिरी सेल के सेल एड्रेस का उपयोग करके सेल रेंज का उल्लेख करेंगे ।
For example, a cell range that included cells A1, A2, A3, A4, and A8 would be written as A1:A8. In the images below, two different cell ranges are selected: Cell range A1:A8 and Cell range B1:B8.
उदाहरण के लिए, एक सेल रेंज जिसमें सेल A1, A2, A3, A4 और A8 शामिल हैं, को ए1:ए8 के रूप में लिखा जाएगा। नीचे दी गई इमेज में, दो अलग-अलग सेल रेंज चुने गए हैं: सेल रेंज A1:A8 और सेल रेंज B1:B8
Cell Referencing – सेल रिफरेन्सिंग
LibreOffice Link